राज्यसभा सांसद के उद्घाटन कार्यक्रम होंगे, मुख्यसचिव से बैठक के बाद निकला बीच का रास्ता

राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा के शिमला मे होने वाले कार्यक्रम अब होंगे। मुख्यसचिव से बैठक के बाद अब बीच का रास्ता निकल आया है। मुख्य सचिव ने डीसी शिमला व नगर निगम के आयुक्त के साथ हुई बैठक में आदेश दिए हैं कि 2 दिनों के अंदर केलेस्टन में बने सामुदायिक भवन और मशोबरा के हेल्पऐज होम के भवनों की संबंधित विभागों से एनओसी ली जाए। ताकि 24 फरवरी को राज्यसभा सांसद की ओर दोनो भवनों का उद्घाटन किया जाए।


दरअसल नगर निगम शिमला के तहत आने वाले भराड़ी वार्ड के केलेस्टन में बने सामुदायिक भवन का निर्माण सासंद निधि व नगर निगम शिमला के पैसों से किया गया था। इसका निर्माण लोक निर्माण विभाग की ओर से करवाया गया था। इस भवन का निर्माण कार्य पूरा हो गया है। ऐसे में इस भवन के उद्घाटन के लिए राज्य सभा सांसद आनंद शर्मा का कार्यक्रम रखा गया था। यह कार्यक्रम 24 फरवरी को तय हो गया था। उधर जब इस मसले पर पीडब्यूडी के डिविजन वन से एनओसी मांगा गया था, पीडब्यूडी ने कहा कि इस भवन का नक्शा पास नहीं है। नक्शा पास नहीं होने के कारण जिला प्रशासन की ओर से भवन के उद्घाटन पर रोक लगा दी गई थी।

डीसी शिमला द्वारा जारी पत्र में कहा गया है कि क्लस्टन में जो समुदायिक भवन बना है। इसका काम पूरा हो गया है, लेकिन इसका नक्शा पास होने की अभी औपचारिकता पूरी की जानी है। यह नगर निगम शिमला के पास पेंडिंग है। वहीं, ओल्ड एज होम जो मशोबरा में बनना है। उसमें कुछ काम अभी बचा हुआ है। इसमें ट्रांसफार्मर लगाने से लेकर कुछ अन्य काम बचा हुआ है। इसे पूरा किया जाना है और कुछ औपचारिकताएं नगर निगम शिमला के मार्फत भी पूरी होनी हैं। इसलिए इनके उद्घाटन को कुछ समय के लिए टाल दिया जाए । जब इसका पूरी औपचारिकताएं कर ली जाएं, इसी के बाद इसका उद्घाटन किया जाए।


बताया जा रहा है कि मुख्य सचिव राम सुभग सिंह ने मंगलवार सुबह डीसी शिमला आदित्य नेगी और नगर निगम शिमला के आयुक्त आशीष कोहली को इस मामलें पर तलब किया। डीसी शिमला व नगर निगम आयुक्त के साथ हुई बैठक में मुख्य सचिव राम सुभग सिंह ने आदेश दिए हैं दिए हैं, कि 2 दिनों के अंदर इस मामलें पर सभी विभागों से एनओसी लिए जाएं।

इस मामलें के बाद भाजपा व कांग्रेस के नेताओं े बीच राजनीति तेज हो गई है। भाजपा नेताओं का कहना है कि कांग्रेस नेता अधूरे और गैर कानूनी तरीके से बने भवनों का उद्घाटन करवाना चाहती है। भाजपा नेताओं का कहना है कि कांग्रेसी नेताओं द्वारा शहर की जनता को गुमराह करने का प्रयास किया जा रहा है। उधर कांग्रेसी नेताओं ने आरोप लगाया है कि भाजपा नेता जानबूझ कर सोची समझी साजिश के तहत विकास कार्यो को रोकने का प्रयास किया जा रहा है।

Total
0
Shares
Related Posts
Total
0
Share